मेरी आत्मा परमात्मा की शरण मैं आनंद के सागर मे तैर रही है।